UAE IPL 2020: सभी खिलाड़ियों का हर 5 दिन बाद कोविड टेस्ट किया जाएगा, प्रैक्टिस से पहले 5 बार निगेटिव आना होगा

UAE IPL 2020: आईपीएल में भाग लेने वाले खिलाड़ियों और सहयोगी सदस्यों को अभ्यास शुरू करने से पहले कोविड-19 टेस्ट में 5 बार नेगेटिव आना होगा और टूर्नामेंट शुरू होने के हर 5 दिन बाद सभी का कोरोना टेस्ट किया जाएगा। एक अधिकारी ने जानकारी को साझा करते हुए कहा। सभी भारतीय खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ को भारत में अपनी संबोधित टीम से जुड़ने के एक सप्ताह पहले 24 घंटे के अंतराल में दो बार कोविड-19 आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना होगा। इसके बाद सभी खिलाड़ियों को भारत में ही 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन पर रहना होगा। टेस्ट में अगर किसी भी व्यक्ति का नतीजा पॉजिटिव आता है। तो उसे 14 दिनों के लिए भारत में ही क्वारंटाइन रहना होगा। IPL 2020, 19 सितंबर से शुरू होने वाले आईपीएल के लिए यूएई रवाना होने के लिए क्वारंटाइन खत्म होने के बाद 24 घंटे के अंतराल में दो बार कोरोना टेस्ट कराना अनिवार्य होगा।निगेटिव आना होगा। अगर कोई भी खिलाड़ी नेगेटिव नहीं पाया जाता है। तो उसको भारत में ही 14 दिन के लिए क्वारंटाइन कर दिया जाएगा।

बीसीसीआई के अधिकारी ने क्या कहा

अधिकारी ने आगे बताया यूएई पहुंचने के बाद खिलाड़ियों और सहायक कर्मचारियों को 1 सप्ताह तक क्वारंटाइन रहने के दौरान तीन बार कोविड-19 टेस्ट कराना होगा। तीनों बार ही निगेटिव आना भी होगा। निगेटिव आने के बाद सभी को अभ्यास के लिए भेज दिया जाएगा। इस मामले में टीमों से प्रक्रिया मिलने के बाद कुछ मामूली बदलाव किए जा सकते हैं। लेकिन खिलाड़ियों और टीम अधिकारियों की सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। यूएई में पहले सप्ताह के प्रवास के दौरान टीमों के खिलाड़ियों और अधिकारियों को होटल में एक दूसरे से मिलने की अनुमति नहीं दी जाएगी। टेस्ट में 3 बार निगेटिव आने के बाद ही उन्हें टूर्नामेंट में अभ्यास करने की अनुमति दी जाएगी। सभी को स्ट्रिक्टली कोविड-19 प्रोटोकॉल को फॉलो करना होगा।

यह भी देखें…

IPL 2020 के मुकाबले कब, कहां और कितने बजे से देख सकेंगे, जाने सब कुछ

भारतीय क्रिकेट कप्तान Virat Kohli की मुश्किलें बढ़ी, शायद हो सकती है जेल…

विदेशी खिलाड़ियों को भी निगेटिव आना होगा

सभी विदेशी खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ को भी यूएई के लिए उड़ान भरने से पहले कोविड-19 की जांच कराना अनिवार्य होगा। और निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद ही उनको उड़ान भरने की अनुमति दी जाएगी। अगर किसी भी विदेशी खिलाड़ी का कोरोना टेस्ट नेगेटिव नहीं आता है तो उसको उसी के देश में 14 दिन के लिए क्वारंटाइन में रहना होगा। दो बार कोरोना टेस्ट में निगेटिव आना होगा। तभी उन खिलाड़ियों को यूएई में आने की अनुमति दी जाएगी।

यूएई में खिलाड़ियों और सहायक कर्मचारियों क्वारंटाइन के दौरान पहले तीसरे और चौथे दिन जांच की जाएगी। 53 दिनों तक चलने वाले इस टूर्नामेंट में हर पांचवें दिन सभी खिलाड़ियों का कोरोना वायरस टेस्ट किया जाएगा। बीसीसीआई परीक्षण प्रोटोकॉल के अलावा टीम खुद से यूएई सरकार द्वारा लागू नियमों के तहत अतिरिक्त से टेस्ट करवा सकती है। बीसीसीआई की तरफ से कहा गया है कि 20 अगस्त से पहले उड़ान ना भरे। जिससे उन्हें जरूरत पड़ने पर आवश्यक परीक्षण प्रोटोकॉल और क्वारंटाइन अभ्यास को अंजाम देने में परेशानी ना हो।

बीसीसीई ने खिलाड़ियों के परिवार वालों के बारे में क्या कहा

बीसीसीआई ने खिलाड़ियों के परिवार और सहयोगियों को साथ रखने का फैसला टीमों पर छोड़ दिया है। अगर कोई भी परिवार सदस्य सहयोगी खिलाड़ियों के साथ आता है तो उनको भी बायो सिक्योरिटी प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। परिवार को बाहर किसी से मिलने की अनुमति नहीं दी जाएगी। और साथ ही दूसरे खिलाड़ियों के परिवार के साथ मुलाकात के दौरान उन्हें शरीरी दूरी का ख्याल रखना होगा। उन्हें हमेशा मास्क लगाए रखना होगा।

अधिकारी ने आगे बताया परिवारों को खिलाड़ियों और मैच अधिकारियों के क्षेत्र के अलावा अभ्यास के दौरान मैदान में आने की अनुमति नहीं दी जाएगी। जो कोई भी नियम का उल्लंघन करेगा। तो उसको खुद को 7 दिन के लिए क्वारंटाइन करना पड़ेगा। वह बायो सिक्योरिटी प्रोटोकॉल में वापस आने के लिए उन्हें छठे और सातवें दिन कोविड-19 टेस्ट में निगेटिव आना होगा। वहीं मुंबई इंडियंस की टीम अपने खिलाड़ियों को यूएई जाने से पहले 5 बार कोविड-19 टेस्ट कराएगी।

Corona Vaccine Trials India: Oxford जल्द ही भारत में शुरू करेगा Covid-19 वैक्सीन का अगला ट्राइल, यह कैसे काम करेगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *