America GDP Rate: अमेरिका की GDP में 33% की हुई गिरावट, बेरोजगारी बढ़ कर 14.7 फ़ीसदी हुई

America GDP Rate: कोरोना वायरस के संक्रमण के साथ लगभग 7 महीने बाद देशों की अर्थव्यवस्था बहुत बुरी हालत में चली गई है। इसी में से अमेरिका की अर्थव्यवस्था भी बहुत बुरी हालत में पहुंच गई है। कोरोना वायरस के कहर और इसके बचाव के तौर पर लॉकडाउन का सहारा ले रहे देशों की अर्थव्यवस्था की कमर टूट रही है। इस कहर में अमेरिका भी खुद को नहीं बचा पाया। देखने में यह आया है कि अमेरिका की जीडीपी में भारी गिरावट आई है। इसी कारण कारणवश बेरोजगारी की दर में बढ़ोतरी हुई है। जो चिंता का विषय है। अप्रैल से जून तक अभी तक अमेरिका की जीडीपी 33 फ़ीसदी की गिरावट आई है। अब तक के समय काल में अमेरिका में जीडीपी की यह गिरावट ऐतिहासिक गिरावट बताई जा रही है। यह अमेरिका अर्थव्यवस्था का अब तक का एक रिकॉर्ड है।

बेरोजगारी में 14.7 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हुई

इस दौरान अमेरिका की बेरोजगारी में बढ़ोतरी पाई गई है। बताया जा रहा है अमेरिका में बेरोजगारी 14.7 फीसदी तक पहुंच गई है। गौरतलब है अमेरिका में वित्त वर्ष कैलेंडर जनवरी से दिसंबर तक के लिए होता है। वहां गुरुवार को अप्रैल से जून कि दूसरी तिमाही के लिए इकनोमिक के आंकड़े जारी किए। जिसमें जीडीपी में 33 फीसदी की गिरावट पाई गई है और वह दूसरी और बेरोजगारी में 14.7 फीसदी की बढ़ोतरी पाई गई।

अमेरिका में लोकडाउन का दिखा असर

कोरोना की वजह से अमेरिका में भी लॉकडाउन लगाया गया। इसके संक्रमण को देखते हुए वहां कंपनियों, कारखाने का काम बंद करना पड़ा। इसकी वजह से देश में भारी मात्रा में लोगों की नौकरियां छूट गई।

युवाओं ने बेरोजगारी भत्ते के लिए आवेदन किया

पिछले हफ्ते करीब 14 लाख अमेरिकायों ने बेरोगरी भत्ते के लिए सरकार में आवेदन दिया। यह वह लोग हैं जिनको नौकरियों से निकाल दिया गया था। अमेरिका में यह लगातार 19 हफ्ता होगा जब 10 लाख से ज्यादा लोग बेरोजगार हो गए। अब उन्होंने बेरोजगार भत्ते की मांग की है। मार्च से पहले यह आंकड़ा कभी भी सात लाख के पार नहीं हुआ था।

1958 के बाद अमेरिका जीडीपी में हुई 10 फ़ीसदी की गिरावट

अमेरिका ने 1947 में अपनी जीडीपी के आंकड़े जारी किए थे। 1958 में राष्ट्रपति आइजनहावर शासन के दौरान अमेरिका की अर्थव्यवस्था में करीब 10 फीसद की गिरावट पाई गई थी। जो इसके पहले का सबसे बुरे दौर का रिकॉर्ड है। इस साल जनवरी-मार्च तिमाही में अमेरिका अर्थव्यवस्था में 5 फीसदी की गिरावट आई थी।

वहीं दूसरी ओर इकोनॉमिस्ट एक्सपोर्ट का यह मानना है जुलाई से सितंबर की तिमाही में इकॉनमी के आंकड़ों में सुधार आ जाएगा। इससे पहले आपको बता देंगे अमेरिका दुनिया का कोरोनावायरस के मामले में सबसे पहले स्थान पर है। जहां पर लगातार है कोरोना के मामले दिन पर दिन बढ़ते जा रहे हैं। वहां करोना के मामले 45 लाख से भी ऊपर हो गए हैं।

Bihar Election: आयोग चुनाव को तैयार, ‘टूथ पिक’ का होगा इस्तेमाल, जाने क्या है ‘टूथ पिक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *